Responsive Ad Slot


 

Breaking News

Breaking News

इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय में डॉ एस. के. पाटिल को कुलपति नियुक्त करने मराठा सेवा संघ ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से की मांग

At Indira Gandhi Agricultural University, Dr. Of. Maratha Seva Sangh demands Chief Minister Bhupesh Baghel to appoint Patil as Vice Chancellor

Thursday, October 14, 2021

/ by Raipur Samachar

रायपुर। छत्तीसगढ़ मराठा सेवा संघ के प्रदेश अध्यक्ष रविन्द्र दानी एवं समाज के पदाधिकारियों ने इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय में कुलपति की नियुक्ति को लेकर डॉ एस. के. पाटिल के समर्थन में प्रदेष के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से पुनः कुलपति बनाने की मांग की है। डॉ एस के पाटिल के समर्थन में एक बयान जारी करते हुए रविन्द्र दानी ने कहा कि इन्दिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय 33 वर्ष हो गयाए लेकिन पिछले 10 वर्षो से विश्वविद्यालय को एक स्थानीय कुलपति डॉ एस के पाटिल के रूप मे प्राप्त किया और डॉक्टर पाटिल ने अपने दस साल के कुलपति के कार्यकाल मे कृषि विश्वविद्यालय को एक नई ऊंचाइयों पर पहुँचाया।






छत्तीसगढ राज्य मे पैदा हुए पढ़े लिखे और इसी मिट्टी से कई रिसर्च करने वाले डॉक्टर एस के पाटिल पूरा जीवन इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के लगा दिया और साथ ही राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय को पुरस्कार और सम्मान दिलाने मे अपनी योग्यता का परिचय देकर कृषि विश्वविद्यालय को उचाईयो पर पहुंचाया। साथ ही साथ 14 कृषि कालेजो से बढाकर कई और अन्य कालेज खोले और छत्तीसगढ राज्य को कृषि के क्षेत्र मे रोजगार जैविक उद्योग स्थापित करने मे महत्वपूर्ण निर्णय लेकर किसानो को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने मे भी महत्वपूर्ण योगदान दिया।





आज पूरे देश मे इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कृषि विशेषज्ञो ने अपनी कडी मेहनत और लगन से साथ कुलपति डाक्टर पाटिल ने सभी के सहयोग और मदद से बहुत बड़ा योगदान हासिल किया है। डाक्टर एस के पाटिल इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय मे सहायक प्रोफेसर पद पर नियुक्त हुए और प्रोफेसर, डीनए संचालक अनुसंधान के साथ साथ कुलपति के पद पर पहुचने मे उनकी कडी मेहनत और लगन ही काफी महत्वपूर्ण रहा। डॉ एस के पाटिल को कभी पद का लालच नही रही लेकिन डाक्टर पाटिल बस्तर के नक्सल क्षेत्रो मे भी अपनी योग्यता किसानो के बीच अपने कृषि विशेषज्ञो साथ मिलकर आदिवासियो के जीवन स्तर को उन्नत खेती करने पर विवश कर दिया आज भी डाक्टर एस के पाटिल बस्तर संभाग के आदिवासियो किसानो के बीच जाकर उनको कृषि के क्षेत्र मे उन्नत खेती करने पर जोर देती है।



डॉ पाटिल अपने कृषि वैज्ञानिको और स्टाफ के साथ साथ मिलकर इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय को इसका पूरा श्रेय देते है। वैसे भी डाक्टर पाटिल समय- समय पर प्रशासनिक कसावट का भी परिचय देते हुए बिना किसी राजनीति के क्षमता के अनुसार अपने सहयोगियो को जिम्मेदारी भी दिये। सरल स्वभाव के होने के कारण कभी भी निगेटिव सोच न तो डाक्टर पाटिल ने इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के प्रति रखा और न ही कभी अपने सहयोगियो के प्रति रही। अपने कार्यकाल मे कुलपति डाक्टर एस के पाटिल इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय एक नयी उचाई पर पहुंचाया, यह अपने आप मे काफी महत्वपूर्ण है। छत्तीसगढ़ मराठा सेवा संघ ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मांग कर इस विषय को गंभीरता से लेते हुए डॉ एस. के. पाटिल जी को पुनः कुलपति के रूप में इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय में नियुक्ति प्रदान कर मराठा सेवा संघ की इस मांग को पूर्ण करने में सहयोग प्रदान करने उन्हें पत्र भी लिखा है।


14 अक्टूबर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
made with by templateszoo